Expansion card in hindi-एक्सपेंशन कार्ड क्या होता है?इसके कितने प्रकार हैं? पूरी जानकारी हिंदी में।

दोस्तों आज हम Expansion card in hindi के बारे में बात करने वाले हैं। और साथ ही साथ Expansion card के कितने Types है उनके बारे में भी सीखेंगे। तो चलिए देखेते हैं।


Expansion card in hindi

               


Expansion card in hindi.(एक्सपेंशन कार्ड क्या है?)➙

इसे इंटरफेस कार्ड भी कहा जाता है यह बाह्य उपकरणों (जैसे मॉनिटर/ डिस्क ड्राइव आदि) को पीसी के Motherboard से जोड़ता है। यह इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में और डाटा स्थानांतरित और अनुवाद करने के लिए आवश्यक है। एक्सपेंशन कार्ड का अर्थ है बढ़ोतरी करना अथवा विस्तार करना। एक्सपेंशन कार्ड अपने नाम के अनुरूप ही कार्य करते हैं।

एक्सपेंशन कार्ड को युक्त कार्ड भी कह सकते हैं, क्योंकि एक्सपेंशन कार्ड किसी विशेष संयुक्त को कंप्यूटर में लगाकर क्रियाशील बनाने के लिए आवश्यक सर्किट सिस्टम मदरबोर्ड को उपलब्ध कराते हैं; अर्थात किसी ऐसी कंप्यूटर युक्त जो सामान्य प्रयोग की नहीं है; जैसे CD राइट ड्राइव , डिजिटल कैमरा वीडियो कैमरा आदि को कंप्यूटर सिस्टम का अंग बनाने के लिए , उनके लिए निर्मित एक्सप्रेशन कार्ड को कंप्यूटर के मदरबोर्ड पर लगाना आवश्यक होता है। एक्सपेंशन कार्ड Slot में लगाए जाते हैं। अतः इन्हें ऐड- इन कार्ड या ऐड ऑन कार्ड भी कहा जाता है।यहां पर हम कुछ एक्सपेंशन कार्ड का संक्षिप्त परिचय दे रहे हैं जो कि निम्नलिखित है।



Types of Expansion card(एक्सपेंशन कार्ड के प्रकार)➙

साउंड कार्ड➞

साउंड कार्ड एक ऐसा एक्सपेंशन कार्ड है जो कंप्यूटर को ध्वनि/आवाज साउंड रूपी डाटा प्रोसेस करने,स्टोर करने, इनपुट लेने ,आउटपुट देने का गुण प्रदान करता है। इसके प्रयोग से आप अपने कंप्यूटर पर संगीत सुन सकते हैं, माइक्रोफोन जोड़कर टेलीफोन की भांति वार्तालाप कर सकते हैं।साउंड कार्ड को Slot पर इस प्रकार लगाते हैं कि वह हिस्सा जिस पर सर्किट पोर्ट बने होते हैं , सिस्टम यूनिट की पिछली दीवार पर बाहर की तरफ आ जाए , जिससे प्रयोगकरता उनसे उक्तियां जोड़ सकें।

 2D ग्राफिक्स कार्ड-➞

ग्राफिक्स कार्ड को अन्य अनेक नामों से जाना जाता है; जैसे- वीडियो कार्ड, वीडियो डिस्प्ले बोर्ड , ग्राफिक्स अडेप्टर कार्ड आदि। ग्राफिक्स कार्ड डाटा को ग्राफिक्स के रूप में कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रदर्शित करते हैं। आजकल ग्राफिक्स कार्ड के सभी अवयव चिप सैट के रूप में मदरबोर्ड पर लगे हुए आते हैं। इस प्रकार के साउंड और वीडियो सर्किट सिस्टम को इन-बिल्ट कहा जाता है। इन-बिल्ट साउंड और वीडियो होने से एक मुख्य फायदा यह है कि 2 PCI Slot रिक्त मिल जाते हैं जिन पर हम अन्य कनेक्शन कार्ड लगाकर कंप्यूटर को नए गुण प्रदान कर सकते हैं। ग्राफिक्स कार्ड PCI Slot पर लगाया जाता है।

Network card➞

नेटवर्क कार्ड को NIC (Network 8nterface card ) अथवा नेटवर्क आडेप्टर कार्ड भी कहते हैं। Computer को LAN(Local area network); जैसे - Internet , आदि या अन्य किसी नेटवर्क हब से जोड़ने के लिए NIC कार्ड को लगाने की आवश्यक्ता पड़ती है।NIC card को PCI slot में लगाया जाता है। ऑफिस, व्यापारियों संस्थानों , बड़े-बड़े केंद्रों , आदि के Computer  में NIC card लगे होते हैं। NIC card के port से LAN को एक केबल द्वारा जोड़ दिया जाता है NIC card Computer को LAN नेटवर्क के लिए आवश्यक सर्किट सिस्टम प्रदान करते हैं।

Disk कन्ट्रोलर कार्ड➞

एक Computer system में अनेक प्रकार की disk drive हो सकती हैं; जैसे -Hard disk , Fllopy disk , CD Rom disk , CD-RW disk आदि। प्रत्येक Disk ड्राइव को क्रियाशील करने और उन्हें नियंत्रित करने के लिए Computer में अनावश्यक सर्किट सिस्टम लगे होते हैं। सामान्यतः प्रयोग होने वाली ड्राइव के सर्किट सिस्टम , चिप सैट के रूप में Mother board पर ऑन-बोर्ड भी लगे हो सकते हैं। तथा कन्ट्रोलर कार्ड के रूप में भी हो सकते हैं, जिन्हें Slot में लगाया जा सकता है। जैसे- CD RW डिस्क ड्राइव Computer का अति आवश्यक नहीं है। अतः इसके कन्ट्रोलर कार्ड को PCI Slot में लगाकर कार्ड के Port पर Disk drive बाह्य रूप से जोड़ी जा सकती है।

I/Oकंट्रोलर कार्ड ➞

कंप्यूटर के लिए अनेक प्रकार की इनपुट-आउटपुट युक्तियों का विकास हो चुका है, उनमें से कुछ सामान्य प्रयोग कि हैं; जैसे- Keyboard , Monitor, माउस स्कैनर प्रिंटर आदि तथा कुछ विशेष प्रयोग की हैं; जैसे MICR , OCR लेजर बीम , स्कैनर प्लॉटर , लाइट पेन आदि। जैसा कि हमने पहले भी बताया है कि प्रत्येक व्यक्ति को कंप्यूटर से जुड़ने के लिए और उसे क्रियाशील बनाने के लिए सर्किट मदरबोर्ड पर लगे होने चाहिए जो उसे मदरबोर्ड के बस सिस्टम तथा सीपीयू से जोड़ते हैं और अन्य विशेष कार्य करते हैं। इन्हें हम I/O कंट्रोलर चिप कह सकते हैं। जब भी हमें किसी विशेष I/O युक्ति को कंप्यूटर से जोड़ना होता है तो उसका एक्सपेंशन कार्ड रिक्त स्लॉट में लगा दिया जाता है।

USB expansion card➞

यूनिवर्सल सीरियल बस USB का पूर्ण रूप है। USB आधुनिक कंप्यूटर के लिए अति आवश्यक तकनीक है, जो मात्र एक ही USB पोर्ट पर 127 तक की संख्या में I/O युक्तियां जोड़ सकती है और इसके लिए उन व्यक्तियों के एक्सपेंशन कार्ड को लगाने की आवश्यकता नहीं होती है।  यूएसबी का कंट्रोलर चिप सैट आधुनिक कंप्यूटरों में मदरबोर्ड पर ही ऑन-बोर्ड लगा होता है जिन कंप्यूटर में ऐसा नहीं होता है, उनके लिए यूएसबी एक्सटेंशन कार्ड आते हैं जो यु एस बी के लिए आवश्यक समस्त सर्किट एवं फीचर प्रदान करते हैं। इन यूएसबी कार्ड को PCI Slot में लगाया जा सकता है।


Conclusion➣

दोस्तों आज आपने Expansion card in hindi के बारे में लगभग सारी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कर ली है। मुझे उम्मीद है कि मेरी पोस्ट आपको पसंद आयी होगी। आपको ये जानकारी कैसी लगी हमें comment में बता सकते हैं।



टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां