What is 5G technology and How will it work in India.

आज हम आपको 5G technology के बारे में बतएंगे और बताएगे कि यह कब तक  launch हो सकती है। साथ ही साथ यह भी जानिये कि इसकी खासियत क्या है। इसके फायदे और नुकशान क्या है, इसकी स्पीड 4g से कितनी फास्ट होगी और यह किस तरह आपकी life को आसान बना देगी, 5G मोबाइल सेक्टर से लेकर मेडिकल सेक्टर तक किस तरह काम करता है।

what is 5g technology


5G एक ऐसी दुनिया है जंहा पर सब कुछ बहुत तेज और स्मार्ट होगा। Electronic devices आपस मे communicate करेंगे जो cars रोड पर चल रही हैं आपस में बाते करेंगी जिस काम को करने मे आज आपको कई घण्टे लगते हैं वो चंद second में हो जाएगा। जी हा 5G अपने साथ केवल स्पीड ही लेकर नहीं आएगा बल्कि आपकी पूरी life change कर देगा। तो आईये आज 5G की बात करते है और बताते हैं कि यह आपकी दुनिया को कैसे बदल देगा। 


5G Technology ➨


अगर आप अपनी स्क्रीन की Top right side पर देखें तो आपको 4G, 4G LTE या 3G लिखा हुआ दिखेगा इस G का मतलब Generation जितना बड़ा G होगा उतना बड़ा उसका connection होगा यहाँ G का मतलब उसके size से नहीं बल्कि उसके साथ लगे Nomber से है जैसे कि 3G, 4G, 5G। 
जब सालों पहले 1980 में 1G आया था। तो लोग उसके जरिए आपस में बात कर पाये। 1G network anolog signal पर काम करता था जिस पर आप सिर्फ call कर सकते थे। 
इसके बाद 1980 मे आया 2G जिसमे मिला हमें GPRS(Global packet radio service) इसके जरिए फोन पर E-mail आयी और slow Internet connection आया। 
फिर टाइम आया 3G का इसके बाद Phone पर Internet Connectivity तेज हो गयी और 4G के बारे में तो आपको पता ही है। कि इसने आपके फोन को Mini Computer में बदल दिया है। लेकिन 5G इन सबसे अलग और बहुत ही advance होने वाला है। Mobile networking technology में यह अब तक का सबसे बड़ा Generation होगा।

Advantage of 5G technology➡


1.5G आने के स्वाचालित  कारों के Artificial Intelligence में   पूरी तरह से बदलाव किया जा सकेगा।
कभी कभी जल्दबाजी में स्वचालित कारों को सही निर्देश नही मिल पाता जिससे मानव हस्ताछेप की जरुरत पड़ती है। लेकिन 5G आने पर यह समस्या भी समाप्त हो जायेगी।
2.स्वास्थ उपकरण हमेशा sensor से जुड़े रहेंगे जो की आपके स्वास्थ की पल पल की जानकारी आपको देंगे। इससे दूर बैठा कोई डॉक्टर आपकी जाँच कर सकेगा बल्की रोबोटिक सर्जरी को भी एक नया आयाम मिलेगा।
3.Virtual Technology को काफी जबरदस्त bost मिलेगा। अगर ये technology बेहतर होगी तो Entertenment और Online gaming को एक नया आयाम मिलेगा। कन्योकी Online gaming में काफी High स्पीड की जरुरत होती है।
4. 5G 20GB/Second की speed देगी। जिससे User 3 घण्टे की HD film को शिर्फ 1 second में download कर पाएंगे और Video buffering की समस्या भी समाप्त हो जायेगी। कन्योकी डाटा transfer बिजली की रफ़्तार से भी तेज होगा।




Disantage of 5G technology➠


1.Researchers का मानना है कि 5G आने के बाद इसकी High स्पीड की वजह से Hackers , यूजर के डेटा को आसानी से हैक कर सकते हैं।
2.5G technology में Electromagnetic Radiation का प्रयोग होता है। जो कैंसर जैसी बीमारी को जन्म देते हैं। हालांकि कुछ सायंटिस्ट इससे सहमत है और कुछ इससे असहमत भी हैं।

3.Technical Univarcity ऑफ़ बर्लिन और नार्वे के Syntack Digital द्वारा जारी किए गए Reasearch paper में User के Privacy को लेकर चिंता जतायी गयी है। इसमें बताया गया है कि 5G network पर फ़ोन सुरक्षित तरीके से selular network से connect नही कर पायेगा।
4.3G में कम Bandwith की वजह से Covrage area ज्यादा था जिसके चलते कम cell tower का इस्तेमाल किया गया था। लेकिन 4G आने के बाद Bandwith के साथ Cell tower की संख्या भी बढ़ी। और यही समस्या अब 5G आने पर और ज्यादा Bandwith की वजह से और ज्यादा हो जाएगी। जिससे Covrage area कम होगा और ज्यादा मोबाइल tower लगाने पड़ेंगे।

5.ज्यादा Mobile Tower की वजह से ऐसा माना जा रहा है कि अधिक tower ज्यादा Radiation छोड़ेंगे जिससे Health से Related प्रॉब्लम आ सकती है।

लेकिन WHO इसे खारिज करता है। उसका मानना है कि इससे केवल एक ही प्रभाव पड़ेगा वो है। Body Temperature का बढ़ना जिससे ज्यादा नुकसान नही होने वाला है।
फिलहाल अभी तक कोई ऐसा डेटा collect नही हो पाया है जिसकी वजह से पता चले की स्वास्थ्य को कोई नुकसान होने वाला है।

5G  के बाद क्या बदलाव होंगे। ➔


1. पहला बड़ा बदलाव जो 5G लेकर आएगा वो है सुपर फास्ट स्पीड लेकिन कितनी फास्ट 2,10,50 Time नहीं  5G 4G से करीब 100 गुना तेज होगा। 

Ex-3G पर एक 2 घंटे की मूवी को डाउनलोड करने में 26 घण्टे, 4G पर 6-7Min जब आपका नेटवर्क peak पर हो लेकिन आप 5G पर मूवी 3.6सेकंड मे डाउनलोड कर सकते हैं। और ये जो आप youtube या अन्य जगह पर Buffering का issue देखते है उसे Good bye कह देंगे।
2.दूसरा जो सबसे बड़ा बदलाव आने वाला है वो है low Latency इसे आप risponse time भी कह सकते हैं। आपके command करने के बाद network risponse करने मे जितना time लेता है उसे Latency कहते हैं अगर आप 4G पर कोई command देते है तो उसे rispond करने में 50-100Mili second लगते हैं जो की पलक झपकने से भी तेज स्पीड होती है। लेकिन 5G respond करेगा सिर्फ 1mili second में तो आप इसकी स्पीड का अंदाजा लगा सकते हैं। 
Low latency के यह फायदे है कि 5G आने के बाद आटोमेटिक self ड्राइविंग car आएंगी जो आपस में एक दूसरे से बात करेंगी।
3.इसके आने से ड्राइवर लेस ट्रांसपोर्ट, स्मार्ट सिटीज, वरर्चुवल रियलिटि और बहुत तेज रियल टाइम अपडेट्स मिलेगा।


5G की रफ्तार बिना ड्राइवर दौड़ेगी कार।➜


5G techonology आने के बाद इसमे एक गाड़ी दूसरी गाड़ी से संवाद करेगी और डाटा के जरिए तय करेगी कि दोनों वाहनो के बीच दूरी और रफ्तार कितनी होनी चाहिए। यह सब Low Latency के वजह से संभव हो पाएगा। तो इसे एक Example लेकर समझते हैं।


Ex➞

मान लीजिए आप रेड लाइट पर खड़े है जैसे ही लाइट ग्रीन होती है आप चलने के लिए ब्रेक से पैर हटाते हैं। और अगले ही second आपके कार के ब्रेक खुद ही अप्लाई हो जाते हैं। और वो रुक जाती है। ऐसा इसलिए हुआ कन्योकी आपकी कार ने sense किया था कि एक और दूसरी कार है जो side से approchकर रही है। और वो इतनी तेज है कि रेड लाइट तोड़ के आगे चली जाएगी। अगर इस समय आपकी कार 4G की टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करती तो इतनी जल्दी response ना कर पाती और क्रैश हो जाती।


5G technology को लेकर भारत और अमेरिका की बातचीत➙

जापान मे हुए G20 सम्मेलन मे प्रधान मन्त्री मोदी जी ने चार प्रमुख बाते अमेरिका के सामने रखी थी। जिनमे 5G टेक्नोलॉजी भी शामिल थी। लेकिन भारत में 5G टेक्नोलॉजी को लेकर एक पेंच फँस गया है भारत ने 5G टेक्नोलॉजी को विकासित करने के लिए चीनी कंपनी HUAWEI से जानकारी मांगी थी। Company की तरफ से सारी जानकारी दे दी भी गयी थी। लेकिन अमेरिका चाहता है कि भारत चीनी कंपनी HUAWEI से 5G टेक्नोलॉजी develop ना कराये। अमेरिका ने अपने देश में HUAWEI को बैन कर रखा है। अमेरिका का कहना है कि इसके जरिए उसकी सूचना चीनी सरकार को मिल सकती है। जो सुरक्षा के लिहाज से बहुत बड़ा खतरा शाबित हो सकती है। भारत में भी HUAWEI को लेकर मतभेद जारी है। इसके चलते अभी कोई निश्चित समय नहीं निर्धारित किया गया है। 


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां