Hot Widget

Type Here to Get Search Results !

शिल्पी राज ( शिल्पी राजभर ) की जीवनी-Shilpi Raj biography in hindi

0

Shilpi Raj biography in hindi , wiki , age , family , career , education , boyfriend , affairs , lifestyle , networth , youtube channel , songs , upcoming , songs

उम्र सिर्फ 20 साल और तमगा बहुत बड़ी सुपरस्टार और गायिका इनके कई गाने 150 million से ज्यादा बार देखे जा चुके है। जी हाँ आज हम बात कर रहे है मात्र 20 साल में स्टारडम पाने वाली सुपरस्टार भोजपुरी गायिका शिल्पी राज की। यह राजभर समाज से ताल्लुक रखती है और गायकी इनका प्रमुख लक्ष्य है। इन्होंने बचपन से ही गायकी को परम लक्ष्य बनाया।

Shilpi raj biography in hindi

अगर आप जीवनी देखने के सौखिन हैं तो सब्सक्राइब करें हमारे Youtube Channel G1 Intro को दिए गए लिंक पर क्लिक करें-


चलिये शिल्पी राज का जीवन परिचय देखते हैं-


Shilpi Raj biography in hindi(शिल्पी राज की जीवनी)


शिल्पी राज का जन्म उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में 25 मार्च 2002 को एक छोटे से गांव में हुआ था।


इनके पिताजी दिहाड़ी मजदूर थे और किसी मिल मे काम करते थे घर की आर्थिक स्थिति बिल्कुल खराब थी माता जी ग्रहणी है और इनके दो भाई और एक बहन भी है।

इसी कारणवश शिल्पी राज को पढाई करने का मौका नहीं मिला। इन्होंने सिर्फ हाईस्कूल तक की पढाई की है। 

चूंकि शिल्पी राज को गायकी बहुत पसंद थी और भोजपुरी पर इनकी पकड भी अच्छी थी इसिलिए उन्होंने अपने गायन को ही अपनी ढाल बनाई और ऐसी मंजिल की तरफ बढ़ गई जो कि एक गांव की लड़की के लिए सपने में सोचने की बात थी।


खैर शिल्पी को उनके माता पिता ने बहुत सपोर्ट किया और उनको गायकी करने में उनका साथ दिया।


शिल्पी राज का करियर-


शिल्पी राज अपने सपने को साकार करने के लिए देवरिया से सीधे सिवान गयी और वहां दो साल तक गायकी की बारिकियां सीखी इसके साथ ही वहां पर छोटे छोटे आयोजनो में गाना गाने लगी। 


गायकी सीखने के बाद शिल्पी बिहार गयी और भोजपुरी सिनेमा में काम की तलाश करने लगी वहां पर गाने वगैरह का काम तो मिला लेकिन वह इतने छोटे स्तर पर था कि वहां से कोई पहचान बना पाना शिल्पी के लिए आसान न था हालांकि प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती एक दिन शिल्पी की मुलाकात महान भोजपुरी सिंगर और कम्पोचर प्रमोद प्रेमी यादव के साथ हुई प्रमोद ने जब इनकी गायकी सुनी तो इनकी गायकी के  कायल हो गए।


प्रमोद प्रेमी ने शिल्पी के साथ एक ड्यूट गाना "बोल का भाव भा तोहरा लीची के हो" गाया इस गाने नै रिलीज होते ही सभी रिकॉर्ड एक के बाद एक तोड़ दिया।

इस गाने को लिखा था कृष्ण बेदर्दी ने और कम्पोज किया था आर्या शर्मा ने।


इस गाने के बाद तो  शिल्पी की नई पहचान बन गयी इनके बहुत से फालोअर्स बने अब एक आम लड़की जिसका नाम शिल्पी था वह देखते ही देखते सुपरस्टार शिल्पी राज हो गयी। 

भोजपुरी सिनेमा के दिग्गज कलाकारों और संगीतकार अब शिल्पी के साथ काम करना चाहते थे।


आपको बता दें कि शिल्पी राज ने इस गाने से पहले भी बहुत से गाने गाए लेकिन उनको बड़ी सफलता मिलने मे छह साल लग गए।


शिल्पी राज का पहला सोलो गाना "चित बदली" था। यह गाना रिलीज होते ही वायरल हो गया। आज आपको यूट्यूब पर चित बदली गाना लगाकर सुनते हुए हर आयु वर्ग के दर्शक मिल जायेंगे। अब बात करते हैं इनका पहला ड्यूट गाना समीर सावन के साथ "भुकुर भुकुर" था.



यह शिल्पी राज की बेजोड़ मेहनत थी जिसने शिल्पी राज को इतने बडें मुकाम तक पहुंचाया है कि आज उनके साथ भोजपुरी का बड़े से बड़े सिंगर और संगीतकार इनके साथ ड्यूट करना चाहते हैं।


शिल्पी राज की गायकी बहुत सुंदर है ये लगभग सभी प्रकार के गानो में अलग अलग गायन शैली से गाने में महारत हासिल कर चुकी है।


शिल्पी राज का शारीरिक मापदंड-

शिल्पी राज की फिजिक की बात करें तो इनका चेहरा गोल ,आँखे काली ,बाल काले है वहीं इनकी हाइट करीब 5.1 inch है और वजन 48 किलो है।


शिल्पी राज के पसंदीदा व्यंजन-


शिल्पी राज को खाने मे सबसे ज्यादा पकोड़ी पसँद है। इसके अलावा ये पानीपुरी और बर्गर की भी शौकीन हैं।


शिल्पी राज आज भोजपुरी सिनेमा के साथ ही इंटरनेट सेसेंशन है इनके हर गाने खूब वायरल होते हैं आइये आपको इनके कुछ गाने बताते है जोकि करीब एक करोड़ से ज्यादा बार देखे जा चुके हैं।


शिल्पी राज के गाने-


  • बोल का भाव भा तोहरा लीची के हो।
  • अपनी तो जैसे तैसे
  • भतार संगे का का कईलू
  • नीली नीली अंखिया
  • हाइलोजन परोजन म़े बार देबू का।
  • दु हजारा लेके आजा सेज पे
  • दीदी के देवर नौछटिया बा।
  • दीदी के देवर जस लइका चाही।
  • घुमादी पिया दिल्ली।
  • पडोशन शोषण करती है।


जैसे हिट सांग थे,जोकि काफी वायरल हुए हालांकि इनकी लिस्ट और भी है लेकिन अगर आप इनके गाने सुननि के शौकीन हैं तो इनके यूट्यूब चैनल पर मिल जायेंगे आपको। 


अन्य बायोग्राफी-



आज की जीवनी यही तक कल फिर मिलेंगे एक नयी जीवनी के साथ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ